Ashwagandha Ke Fayde, Jabardast Ayurvedic Tonic

हेल्लो, कैसे हैं आप सब लोग. आज हम आपको एक बेहतरीन आयुर्वेदिक औषधि के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका नाम है अश्वगंधा. Ashwagandha Kya Hai और Ashwagandha Ke Fayde क्या हैं, ये सब आज की पोस्ट में आप जानेंगे. साथ में आपको बताएँगे Ashwagandha Istemal/Use Karne Ka Tarika क्या है. मतलब Ashwagandha Ki Poori Jankari आपको मिलने वाली है.

बहुत से लोग हैं जो Ashwagandha Benefits In Hindi ढूंढते रहते हैं. क्योंकि अश्वगंधा है ही इतना ख़ास. Ashwagandha Ke Fayde/Labh जानकार आप चकित हो जायेंगे की इतनी साधारण सी दवा, और इतने काम करती है. अश्वगंधा कैसे ले और अश्वगंधा लेने के फायदे बताने के साथ साथ हम आपको कुछ Ashwagandha Ke Nuksan भी बताएँगे.

Ashwgandha Ke Fayde

लेकिन वो कहते हैं ना की किसी भी चीज़ को इस्तेमाल करने से पहले हमें उसके बारे में अच्छी तरह से जान लेना चाहिए की आखिर ये है क्या. तो सबसे पहले तो हम आपको ये बताएँगे की Ashwagandha Kya Hai और अश्वगंधा कितनी मात्रा में लेना चाहिए. चलिए फिर खोलते हैं अश्वगंधा की पोल और जानते हैं की What Is Ashwagandha In Hindi.

Ashwagandha Kya Hai, Ashwagandha Ke Fayde

आयुर्वेद की सबसे टॉप दवाओं में से एक है अश्वगंधा. असल में इसका एक पौधा होता है, और जो उस पौधे की जड़ें होती हैं उन्ही को कूट-पीसकर बनाया जाता है अश्वगंधा पाउडर. ये पौधा इतना ख़ास होता है की सालों पहले से मनुष्य इसे अपनी बीमारियों और कमियों के लिए इस्तेमाल करता आ रहा है. खुद हमारे देश में भी अब इसे जमकर उगाया जा रहा है. इसका बोटनिकल नाम Withania Somnifera है.

आप जरा इसके नाम पर गौर फरमाइए, अश्व + गंधा, मतलब जिसमे घोड़े जैसी गंध आती हो. अश्वगंधा का जो पौधा होता है उसकी जड़ों में से हु-ब-हु घोड़े जैसी स्मेल आती है, इसीलिए इसका नाम अश्वगंधा पड़ा. तो Ashwagandha Kya Hai आपको पता चल ही गया होगा. कुछ देश हैं जो की इसके उत्पादन के लिए प्रसिद्द हैं, जैसे नेपाल. हमारा देश खुद नेपाल से आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियाँ आयात करता है.

ऐसा कहा जाता है की अश्वगंधा इस्तेमाल करने पर आदमी में घोड़े जैसी ताकत आ जाती है. ये इतनी ताकतवर आयुर्वेदिक दवा है की इसे Indian Ginseng के नाम से जाना जाता है. इसका उपयोग बहुत सी बीमारियों को ठीक करने में किया जाता है. बहुत सारी कंपनियां इसको तैयार करती हैं और ये कई forms में आता है जैसे पाउडर, कैप्सूल और लिक्विड में.

पतंजलि, बैधनाथ और डाबर कुछ प्रतिष्ठित कंपनियां हैं जो इसको तैयार करती हैं. कई लोगों के मन में दुविधा होती है की अश्वगंधा लेने का तरीका क्या है. या फिर Ashwagandha Kitni Maatra Me Lena Chahiye ये उनको नहीं पता होता. तो सबसे पहली बात तो हम कहेंगे की इसकी मात्रा आपका डॉक्टर ही तय करता है, आपकी बीमारी के हिसाब से.

लेकिन नोर्मली अगर आप Ashwagandha Ke Fayde लेना चाह रहे हैं तो उसके लिए हम आपको इसकी मात्रा बता देते हैं. अश्वगंधा आपको 1 समय पर 15 से 20 ml तक ही इस्तेमाल करना है. इससे ज्यादा बड़ी डोज़ कुछ साइड इफेक्ट्स पैदा कर सकती है. ये तो थी अश्वगंधा की मात्रा, अब आपको बताते हैं Ashwagandha Use/Istemal Karne Ka Tarika.

Ashwagandha Istemal/Use Karne Ka Tarika, Ashwagandha Ke Fayde

अश्वगंधा को खाली पेट नहीं लेना चाहिए, नहीं तो ये कुछ परेशानियां पैदा कर देता है जैसे, पित्त का बढ़ जाना या फिर सीने में जलन और एसिडिटी वगैरह. अश्वगंधा को आप दिन में 2 बार इस्तेमाल करें वो भी खाना खाने के आधे घंटे बाद. अगर आप अश्वगंधा के कैप्सूल ले रहे हैं तो आराम से पानी के साथ ले सकते हैं.

अगर आप अश्वगंधारिष्ट मतलब लिक्विड अश्वगंधा का प्रयोग कर रहे हैं तो आपको Ashwagandharishta Lene Ka Tarika भी बता देते हैं. सबसे पहले आपको एक कप लेना है, उसमे 15 से 20 ml अश्वगंधारिष्ट डालिए और फिर उसमे 15 से 20 ml ही पानी मिला लीजिये. अब आप उसको ले सकते हैं. Ashwagandha Ke Fayde लेने के लिए उसे तरीके से इस्तेमाल करना जरुरी है.

Ashwagandha Use/Istemal Karne Ka Tarika

अश्वगंधा का प्रयोग करते समय कुछ सावधानियां बरतना जरूरी है, जैसे अगर आपका पित्त बढ़ा हुआ है तो आप इसका प्रयोग ना करें, इसके अलावा अल्कोहल का इस्तेमाल अश्वगंधा लेने के दौरान ना करें नहीं तो नुकसान हो सकते हैं. लीजिये दोस्तों आपको ये भी पता चल गया है की Ashwagandha Kaise Le, अब बारी आती है Ashwagandha Ke Fayde जानने की, तो चलिए शुरू करते हैं.

Ashwagandha Benefits In Hindi, Ashwagandha Ke Labh

शायद ही कोई ऐसी औषधि होगी जिसके अश्वगंधा के जितने लाभ होंगे. Ashwagandha Ke Fayde ढेरों हैं, लेकिन फिर भी हम कोशिश करेंगे की आपको उनमे चुन चुनकर कुछ ख़ास लाभ आपके सामने पेश करें. लीजिये हाज़िर हैं Ashwagandha Lene Ke Fayde.

(1) सबसे पहले आपको बतादें की अश्वगंधा शारीरिक और मानसिक दोनों तरह के लाभ हमें देता है. यह एक बहुत ही अच्छा nervine टॉनिक है जो की हमारे नर्वस सिस्टम पर काम करता है. जिन लोगों का नर्वस सिस्टम अल्कोहल या किसी और कारण से बिलकुल कमजोर हो चुका है, उनके लिए ये एक रामबाण दवा है. अश्वगंधा नर्वस सिस्टम को मज़बूत बनाने का काम करता है.

(2) कमजोर यानी कम ताकतवर लोगों के लिए भी अश्वगंधा एक वरदान है. जो लोग बहुत ज्यादा कमजोर हैं, जिनसे किसी प्रकार का कोई भारी काम नहीं होता, वो कुछ दिन के लिए अश्वगंधा का इस्तेमाल करके देखें. उन्हें अपनी ताकत में बढ़ोतरी महसूस होगी. ऐसे ढेरों Ashwagandha Ke Fayde और भी हैं.

(3) अश्वगंधा हाइट और वजन दोनों बढ़ाने में कारगर है. जिन लोगों हाइट उम्मीद के अनुसार नहीं बढ़ रही है लेकिन उम्र अभी कम है तो आप डॉक्टर की सलाह से अश्वगंधा का सेवन करना शुरू कर सकते हैं. इसी प्रकार जिन लोगों का वजन नहीं बढ़ पा रहा हो, वो भी इसके इसके इस्तेमाल से अपना वजन बढ़ा सकते हैं.

(4) अश्वगंधा की सबसे अच्छी बात ये है की ये आपकी नींद में बहुत सुधार करेगा. कई लोगों की रात में बार बार जो नींद टूटती हैं ना, वो बंद हो जायेगी. रात को इसका इस्तेमाल करने के बाद आपकी नींद में कोई बाधा उत्पन्न नहीं होगी. इससे आप हमेशा फ्रेश महसूस करोगे.

(5) पुरुषों की यौन शक्ति बढ़ाने के लिए अश्वगंधा मशहूर है. किसी भी प्रकार की यौन दुर्बलता को दूर करने के लिए ये एक अचूक औषधि है. 2 से 3 महीने अश्वगंधा के लगातार सेवन से आपके यौन प्रदर्शन में सुधार होगा. यह किसी दूसरी आयुर्वेदिक दवा के साथ मिलकर बहुत ही अच्छा काम करता है, जैसे शिलाजीत वगैरह.

(6) अश्वगंधा आपके दिमाग को शांत करता है, आजकल की दबाव भरी लाइफ में हर आदमी सोच सोच के परेशान रहता है. इसके लिए अश्वगंधा बहुत ही शानदार औषधि है. यह आपको रिलैक्स करता है और तनाव कम करने में आपकी सहायता करता है. इसके लिए आप अश्वगंधा के साथ ब्राह्मी वटी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं.

(7) अश्वगंधा लेने के फायदे में अगला फायदा ये है की ये मसल्स बनाने के लिए भी काफी मददगार माना जाता है. ये आपकी भूख बढाता है और जैसा की हमने बताया की वजन तो बढाता ही है. तो इन दोनों के चलते मसल्स बनाने में आसानी होती है.

Ashwagandha Ke Fayde Aur Nuksan अभी जारी है

Ashwagandha Kya Hai

(8) अश्वगंधा आपकी सम्पूर्ण शारीरिक क्षमता को बढाता है, आपकी किसी भी प्रकार की शारीरिक कमजोरी को दूर करता है. यह थकान और आलस को दूर करके आपमें एक नया जोश पैदा करने का काम करता है. आपकी एनर्जी बढ़ने के साथ साथ इसके सेवन से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी काफी सुधार होता है.

(9) जिन लोगों को अक्सर हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत रहती है उनके लिए भी ये एक अचूक औषधि है. ये आपके ब्लड प्रेशर को नियमित करने में बहुत ही अच्छी तरह से काम करता है. जिन लोगों का ब्लड प्रेशर लो रहता है, उन लोगों को अश्वगंधा का सेवन नहीं करना चाहिए.

(10) आजकल कैंसर बहुत ही जल्दी जल्दी अपने पैर पसार रही है. Ashwagandha Ke Fayde इसमें भी आपके काम आयेंगे. अश्वगंधा कैंसर वाली कोशिकाओं को पनपने से रोकता है. खासकर महिलाओं में ये समस्या बहुत ज्यादा पायी जाती है.

(11) अश्वगंधा एंग्जायटी और डिप्रेशन वाले मरीजों के लिए भी बेहतरीन दवा है. इसमें पाए जाने वाले गुण एंग्जायटी और डिप्रेशन का प्रभाव कम करते हैं. अश्वगंधा तनाव कम करने में आपकी सहायता करता है और आपको स्ट्रेस फ्री रहने के लिए प्रेरित करता है. डॉक्टर्स भी एंग्जायटी के लिए अशवगन्धा और ब्राह्मी वटी के एक साथ सेवन को सर्वोत्तम मानते हैं.

दूध पीने का सबसे सही समय कौनसा होता है

खाना खाने का तरीका, खाना खाने का सही तरीका

(12) अश्वगंधा आपकी आँखों की रौशनी बढ़ाने में भी आपकी मदद कर सकता है. इसके लिए आपको आंवले का चूर्ण बनाकर अश्वगंधा के चूर्ण में बराबर मात्रा में मिलाना होगा और रोज सुबह शाम एक चम्मच इस्तेमाल करना होगा. ये आपकी आँखों की रौशनी बढ़ाने में कारगर रहेगा.

तो ये थे कुछ बेहतरीन Ashwagandha Ke Fayde जो की किसी और इतनी सस्ती दवा से आपको कभी नहीं मिल सकते. अब बात करते हैं की Ashwagandha Ke Nuksan क्या क्या हैं. तो आपको बतादें की आयुर्वेदिक होने के कारण इसके नुकसान लगभग शून्य हैं. लेकिन फिर भी गलत इस्तेमाल से होने वाले नुकसान हम यहाँ जान लेते हैं.

Ashwagandha Ke Nuksan, Side Effects Of Ashwagandha In Hindi

(1) अगर आप ऊपर बताई गयी डोज़ से ज्यादा मात्रा में अश्वगंधा का इस्तेमाल करते हैं तो आपको सीने में जलन, आलस और एसिडिटी की समस्या हो सकती है. इसीलिए Ashwagandha Ka Sevan Karne Ka Tarika जो बताया गया है उसी के अनुसार उपयोग करें.

इम्युनिटी कैसे बढ़ाएं, इम्युनिटी क्या है

टेंशन फ्री कैसे रहें, स्ट्रेस फ्री रहने के तरीके

शतावरी के फायदे हैरत में डाल देंगे आपको

(2) अगर आप खाली पेट और ज्यादा मात्रा में इसका इस्तेमाल करेंगे तो आपको पेट सम्बन्धी समस्याएं हो सकती हैं. आपकी पाचन क्रिया गडबडा सकती है और आपको गैस, कब्ज़ या फिर पेट में दर्द जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है.

(3) अश्वगंधा का ज्यादा मात्रा में सेवन आपके शरीर के तापमान को अत्यधिक बढ़ा देता है जिससे आपको बुखार, बचैनी या फिर घबराहट भी हो सकती है. अगर आपको इनमें से कोई भी समस्या होती है तो आप इसका सेवन रोक दें.

(4) इसके अलावा जिन लोगों को शूगर है या फिर लो ब्लड प्रेशर की समस्या है, उनको इसके सेवन से कुछ नुक्सान हो सकते हैं. इसलिए कोई भी दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से एक बार जरूर परामर्श करें.

तो दोस्तों ये थी हमारी पोस्ट Ashwagandha Ke Fayde, Ashwagandha Benefits In Hindi. आशा करते हैं की आपको अच्छे से पता चल गया होगा की Ashwagandha Kya Hai और Ashwagandha Ke Fayde Aur Nuksan क्या क्या हैं. पोस्ट को Like और Share करना मत भूलना, कुछ भी पूछना हो तो comment box में comment करके पूछ सकते हैं. धन्यवाद्.

Leave a Reply