Khana Khane Ka Tarika, खाना खाने का सही तरीका

नमस्कार दोस्तों कैसे हैं आप सब लोग. आज हम जानेंगे Khana Khane Ka Tarika, खाना खाने का तरीका. हम सब लोग जानते हैं की खाना हमारे जीवन का आधार है. लेकिन हम सब खाने के साथ नाइंसाफी करते हैं. खाना खाने के नियम हम भूल जाते हैं, और अपने शरीर के साथ भी खिलवाड़ करते हैं. हम सबको ये बात समझनी होगी की खाना खाने के तरीके होते हैं.

आज हम जानेंगे खाना खाने का सही तरीका (Khana Khane Ka Tarika)

आप सोचिये की जो चीज़ हमारे जीवन के लिए सबसे जरूरी है, जिससे हमारा शरीर बनता और चलता है, अगर उसी चीज़ को हम बिना किसी नियम तरीकों के ग्रहण करते हैं तो इससे हमें कितनी बड़ी परेशानी हो सकती है. 80% लोगों को तो पता भी नहीं होगा की Khana Khane Ka Tarika जैसी कोई चीज़ भी होती है, उन्हें तो बस जब मौका मिले खाना ठूसने की आदत होती है.

Khana Khane Ka Tarika

ये भी पढ़ें-

कैलोरीज क्या हैं, कितनी कैलोरीज लेनी चाहिए रोज

फल खाने के अनगिनत लाभ, फ्रूट्स खाने के फायदे

क्या खाना चाहिए हमें बॉडी बनाने के लिए

कितना प्रोटीन लेना चाहिए हमें रोज, बॉडी बनाने के लिए

ग्रंथो के अनुसार खाना खाने के ऐसे ऐसे नियम और तरीके हैं जिनको सीखने में आदमी को साल लग जाये, लेकिन हम यहाँ इतनी गहराई में तो नहीं जायेंगे लेकिन मुख्य मुख्य जो खाने खाने के नियम और तरीके हैं, उन पर गौर फरमाएंगे.

अगर आप लोगों ने इन पर भी अमल कर लिया तो समझो आपका बेड़ा पार हो जाएगा. एक बात आप समझ लीजिये की हमारा Khana Khane Ka Tarika ही हमारा स्वास्थ्य तय करता है. ये तो सब जानते हैं की अगर अच्छा खाना है तो अच्छा शरीर है. शरीर को कोई भी काम करने के लिए पहले खाने की जरूरत होती है. शरीर खाने से ही काम करने के लिए उर्जा तैयार करता है.

अगर हम अपने शरीर को उसकी उर्जा का स्त्रोत ही सही तरीके से नहीं देंगे तो शरीर भी नाराज़ हो जाएगा और परेशानियां शुरू हो जायेंगी. हमारा शरीर भी एक मशीन है और हर मशीन को उसका ईंधन सही तरीके से देना होता है, तभी वो नियमित रूप से सही से काम करती है. आप किसी गाड़ी का ही उदाहरण ले लीजिये. उसका ईंधन पेट्रोल या डीजल है. उसी से वो उर्जा बनाती है.

जब भी पेट्रोल ख़त्म होता है वो काम करना बंद कर देती है, या फिर अगर उसके खाने में (ईंधन में) में मिलावट है या घटिया क्वालिटी का है तो उसका इंजन ख़राब भी हो सकता है. इसी प्रकार हमारा शरीर है, इसको भी हमें सही तरीके से ईंधन देना होता है. चलिए अब ज्यादा देर न करते हुए खाना खाने के नियम और तरीके जान लेते हैं.

ये पोस्ट पढने के बाद आप खुद सोचियेगा की आप इनमे से कितनी गलतियाँ करते हैं, और उनको सुधारने की कोशिश जरूर कीजियेगा. Khane Khane Ka Tarika भी होता है ये आज आप अच्छे से समझ जायेंगे. आज से बस इन नियमों को ध्यान में रख कर ही भोजन ग्रहण करना है आप लोगों को.

Khana Khane Ka Tarika Aur Niyam

(1) खाना खाने से पहले हाथ जरूर धोंये- हमारे देश की 60% आबादी खाना खाने से पहले हाथ धोना जरूरी नहीं समझती, इसीलिए हमारे देश में मरीजों की संख्या दुसरे देशों की तुलना में ज्यादा है. आप सब ये समझ लें की 40% से ज्यादा बीमारियाँ हमारे खाने के साथ जाने वाली गंदगी के कारण होती हैं. हमें और कुछ याद रहे या न रहे लेकिन खाना खाते समय हाथ जरूर धोएं.

(2) खाना हमेशा बैठकर ही खाएं- पश्चिमी सभ्यता के पीछे भागते भागते हम भारतीय संस्कृति को भूलते जा रहे हैं, जो की विश्व में सबसे श्रेष्ठ मानी जाती है. आज हर जगह किसी भी समारोह में आप देख लीजिये, हर जगह लोग खड़े खड़े खाना खाते हुए मिल जायेंगे. ये सबसे गलत Khana Khane Ka Tarika होता है. आयुर्वेद में इसके हजारों नुकसान बताये गए हैं.

Khana Khane Ka Sahi Tarika

(3) तनाव में कभी भी भोजन न करें- कई बार हम बहुत ज्यादा तनाव में होते हैं, ऐसी स्थिति में हम भोजन न ही करें तो अच्छा है. ग्रंथो के अनुसार तनाव और बहुत ज्यादा चिंता की स्थिति के दौरान किया गया भोजन जहर का काम करता है शरीर के लिए. ऐसा होने पर हमें अपने मूड के ठीक होने का इंतज़ार करना चाहिए. अगर एक टाइम का खाना छोड़ना भी पड़े तो उससे कोई दिक्कत नहीं है.

(4) भोजन को चबाकर खाएं- अगर आप चाहते हैं की आप जो खा रहे हैं वो आपके शरीर को लगे तो इसके लिए आपको खाने को अच्छी तरह चबाकर खाना होगा. जितना ज्यादा अच्छी तरह से आप खाने को चबायेंगे, उतना ही अच्छा वो पचेगा और उतने ही ज्यादा पौषक तत्व आपको उससे मिलेंगे.

बिना चबाये भोजन को निगलने पर शरीर भी उसको सही से प्रोसेस नहीं करता और अधपचा ही मल द्वारा वो बाहर निकल जाता है. मतलब जिस चीज़ के लिए हमने खाना था वो चीज़ें हमें उससे नहीं मिल पाती. इसलिए हमेशा खाना खाने का तरीका अपने दिमाग में रखें और भोजन को चबाकर खाएं.

(5) भोजन हमेशा जमीन पर बैठकर है करें- हमारे ऋषि-मुनि कह कर गए हैं की आदमी तो हमेशा अपनी जमीन से जुड़कर रहना चाहिए और जमीन से प्राप्त हुआ भोजन हमेशा जमीन पर बैठकर ही ग्रहण करना चाहिए. हो सकता है इसके कोई वैज्ञानिक लाभ न दिखाई दें, लेकिन हमारे पूर्वजों के अनुसार इसके ढेरों फायदे हैं. आजकल लोग अपने बेड पर बैठे बैठे ही भोजन ग्रहण करते हैं जो की गलत हैं.

(6) टी.वी देखते देखते खाना न खाएं- ये आज की सबसे बड़ी दिक्कत है, बच्चों से लेकर बूढों तक, कोई भी बिना टी.वी ऑन किये खाना नहीं खाते. इसके भयंकर दुष्परिणाम हैं. जिनमें से एक है कमज़ोर याददाश्त. पढाई करने वाले बच्चे ये बात अच्छी तरह जान लें की लगातार ऐसा करने से आपकी मेमोरी बहुत ही कमजोर हो जाएगी. 30 की उम्र तक आते आते आप बहुत कुछ भूलना शुरू कर दोगे.

इसलिए खाना हमेशा शांत जगह पर बैठकर खाएं. कई लोगों को आदत होती है की वो खाना खाते वक़्त कोई भी अख़बार या कहानियों की किताब पढ़ने लग जाते हैं. ये भी उतनी ही खराब आदत है जितनी टी.वी देखते हुए खाना खाना. अपनी इस आदत को जल्द से जल्द बदल लें और अपने बच्चों को तो खासकर समझाएं, नहीं तो उनकी याददाश्त बिलकुल कमजोर हो जायेगी.

(7) खाने पर ध्यान लगायें- Khana Khane Ka Tarika एक ये भी होता है की आप खाना खाते समय सिर्फ खाने पर ध्यान लगायें. कई लोग तो इतने जल्दी में रहते हैं की उन्हें ये भी नहीं पता होता की कितनी चपाती खा चुके हैं वो, और क्या क्या खा रहे हैं.

आयुर्वेद में एक बहुत ही अच्छी बात बताई गयी है की आप जो कर रहे हैं अगर आपका ध्यान केवल उस पर है तो आपको मज़ा भी आएगा और लाभ भी पूरा मिलेगा. ध्यान देने के कारण हम खाना सही से खा पाएंगे.

(8) हमेशा अपनी भूख से कम खाएं- हमें हमेशा अपनी भूख से थोडा कम खाना खाना चाहिए, इससे हमारा पाचन तंत्र हमेशा स्वस्थ रहता है. इस बात का तो आपको वैज्ञानिक प्रमाण भी मिल जायेगा. भूख से कम खाना खायेंगे तो आपके शरीर के अन्दर जो ओर्गंस उसको पचाने का काम करते हैं, उन पर दबाव नहीं पड़ता और वो ठीक से काम करते हैं.

(9) 1 दिन के लिए खाना छोड़ दें- आपने लोगों से सुना होगा की उन्होंने पुण्य कमाने के लिए व्रत किया है, लेकिन असल में उनको इसकी असलियत मालूम नहीं होती. पुराने ऋषि-मुनि और महात्माँ अपने शरीर के भीतरी अंगों को आराम देने के लिए और अपने शरीर की सफाई के लिए व्रत करते थे, बस लोगों ने उसका कुछ और मतलब निकाल लिया. वो उनका अनुसरण करने लगे.

लेकिन जो भी हो हमें हर सप्ताह 1 दिन का व्रत जरूर करना चाहिए,पुराने ज़माने में ये Khana Khane Ka Tarika बहुत प्रचलित था. अगर आप भी ऐसा करेंगे तो निसंदेह आप एक बहुत ही अच्छा स्वास्थ्य प्राप्त करने में सफल हो जाओगे.

(10) खाना खाने के बाद पानी न पीयें- हमें कभी भी खाना ख़त्म करते ही पानी नहीं पीना चाहिए. 1-2 घूँट का तो फिर भी चलता है, लेकिन कई तो पूरा गिलास पानी पी जाते हैं. आपकी ये आदत आपके शरीर का सत्यानाश कर सकती है. आपके अन्दर का सिस्टम बहुत कमजोर हो जाता है, पानी भोजन को पचाने वाली ज्वाला को बुझा देता है. उसके बाद तो आप खुद सोच सकते हैं.

(11) खाना खाने के पात्र हमेशा साफ़ रहें- जिस प्रकार खाना खाने से पहले हाथ धोना जरूरी है उसी तरह जिन बर्तनों में हम खाना खाते हैं वो भी साफ़ होने जरूरी हैं. नहीं तो आप बीमार पड़ सकते हैं. क्योंकि गंदे बर्तनों के द्वारा भी हमारे शरीर में हानिकारक विषाणु पहुँच जाते हैं.

(12) भूख लगने पर ही खाना खाएं- खाना खाने के नियम तो बहुत हैं लेकिन ये सबसे ख़ास है. दिखने में ये बात छोटी सी लगती है लेकिन इसमें बहुत दम है. अगर आपको ऐसी आदत है की आप हमेशा कुछ न कुछ खाते रहते हैं या फिर खाना खाने के बाद भी कुछ न कुछ खाते रहते हैं तो ये आदत बदलिए. आपको खाना हमेशा तब खाना चाहिए जब आपको अच्छे से भूख लग जाये.

तो दोस्तों ये था खाना खाने का तरीका (Khana Khane Ka Tarika). पोस्ट को Like और Share करना ना भूलें. पोस्ट आपको कैसी लगी ये आप हमें comment करके जरूर बताएं और जितने भी खाना खाने के नियम और तरीके बताये गए हैं उनको फॉलो करें. धन्यवाद्.

 

Leave a Reply