Steroids Kya Hai – स्टेरॉयड लेने या इस्तेमाल करने के नुकसान

नमस्कार दोस्तों आप सब का एक बार फिर स्वागत करते हैं हम. अगर आप जिम जाते हैं या फिर कभी गए हैं तो आपने Steroids का नाम जरूर सुना होगा. अपनी आज की पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं Steroids Kya Hai और Steroids Ke Nuksan क्या क्या है. साथ ही आपको इनको इस्तेमाल करने का तरीका भी बताएँगे. तो चलिए शुरू करते हैं अपनी पोस्ट Steroids Benefits And Side Effects In Hindi.

याद कीजिये आप पहले के बॉडी बिल्डर्स को, जिनकि बॉडी का टाइप आज के बॉडी बिल्डर्स से कुछ अलग ही होता था. अब गौर कीजिये आज के बॉडी बिल्डर्स पर, आप पाएंगे की उनकी मसल्स तो जोरदार हैं लेकिन उनका पेट ऐसे फूला हुआ रहता है जैसे किसी ने उसमे हवा भर रखी है. जी हाँ ये सब स्टेरॉयड की ही कारस्तानी है. जितने भी आज के समय के बॉडी बिल्डर्स हैं उनमें से ज्यादातर का यही हाल है.

Side Effects Of Steroids In Hindi, Steroids Kya Hai

बॉडी बिल्डिंग करने का शौक आज का नहीं है, तगड़ा शरीर बनाने की धुन लोगों में बहुत सालों पहले से चली आ रही है. इसके चक्कर में तरह तरह के सप्लीमेंट्स के आविष्कार हुए हैं. इसी कड़ी में स्टेरॉयड का नाम भी जुड़ा, स्टेरॉयड की पूरी जानकारी हम आपको यहाँ देंगे. चलिए सबसे पहले जानते हैं Steroids Kya Hote Hai और इसका इस्तेमाल कितने समय से होता आ रहा है.

Steroids Kya Hai

आज से लगभग 90 साल साल पहले कैंसर जैसी घातक बीमारियों की काट के लिए दवाएं बनायीं जा रही थी. उसी कड़ी में स्टेरॉयड का भी निर्माण किया गया. जब इसका टेस्ट करने के लिए इसे लोगों पर आजमाया गया तो विशेषज्ञों ने पाया की इसमें मसल्स ग्रोथ के गुण हैं. जिन लोगों को ये दवा दी गयी, उनके शरीर में खासकर मसल्स में काफी बदलाव देखा गया.

इसके अलावा शोधकर्ताओं ने पाया की इस दवा के प्रयोग ने उन लोगों की यौन शक्ति को भी काफी हद तक बढ़ा दिया है. शोधकर्ताओं ने उनमें से ज्यादातर लोगों में कैंसर की कोशिकाओं के बढ़ने का मुख्य कारण उनमें बढे हुए एस्ट्रोजन लेवल को पाया. शरीर में एस्ट्रोजन लेवल का अनुपात कम करने के लिए ही स्टेरॉयड का निर्माण किया गया था ताकि कैंसर की कोशिकाएं बढ़ने से रुक पायें.

लेकिन लोगों ने इसे किसी और कारण से ही इस्तेमाल करना शुरू कर दिया. कुछ लोग अपनी मांसपेशियां बनाने के लिए इसका गलत इस्तेमाल करने लगे, और कुछ अपनी यौन शक्ति बढ़ाने के लिए. स्टेरॉयड एक हार्मोन हैं, जो हम सब के शरीर में खुद-ब-खुद हमारे शरीर द्वारा बनाया जाता है. स्टेरॉयड को AAS भी कहते हैं जिसकी फुल फॉर्म Anabolic Androgenic Steroid है.

आसान शब्दों में कहा जाए तो शोधकर्ताओं ने एक ऐसी दवा बनायीं जो हम सब पुरुषों के शरीर में खुद बनती है, और जो हमारे पुरुष होने के लक्षणों को बढ़ाती है. जैसे दाढ़ी मूछ आना, छाती पर बाल होना, आवाज़ भारी होना, आक्रामकता ज्यादा होने और महिलाओं से अधिक ताकत का होना. ये सब गुण हमारे अन्दर इस मेल हार्मोन के कारण ही होते हैं जिसका नाम टेस्टोस्टेरोन है.

टेस्टोस्टेरोन खुद एक हार्मोन है जो की पुरुषों में एस्ट्रोजन के अनुपात को कम रखता है. इसी वजह से पुरुषों में पुरुषों वाले गुण पाए जाते हैं. टेस्टोस्टेरोन की तर्ज पर ही स्टेरॉयड का निर्माण किया गया था, ताकि जिन लोगों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो गया है और एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ गया हो, उनमें इस स्टेरॉयड के द्वारा इनका अनुपात सही किया जा सके.

उम्मीद है Steroids Kya Hai और स्टेरॉयड क्यों और कब बनाये गए थे आपको अच्छे से पता चल गया होगा. बात करे स्टेरॉयड के प्रकार की तो अब तो बहुत सारे स्टेरॉयड आपको मिल जाते हैं. शुरू में जब इनका निर्माण किया गया था तो ये सिर्फ 2-3 प्रकार के ही बनाये गए थे. लेकिन बात की जाए आज के समय की तो लगभग 35 प्रकार के मुख्य स्टेरॉयड आपको मिल जायेंगे.

जिनमें से कुछ ख़ास स्टेरॉयड के नाम हम आपको बता देते हैं जैसे Testosterone Enanthate, Testosterone Cypionate, Testosterone Suspension, Anavar, Deca Durabolin, Dainabol, Clenbuterol, Insulin, Primobolan, Winstrol और Nolvadex. ये कुछ ऐसे स्टेरॉयड हैं जिनका प्रयोग आज के समय में बहुत ज्यादा हो रहा है.

Steroids Kya Hai,  Steroids Lene Ke Nuksan

जैसा की हमने आपको ऊपर बताया की स्टेरॉयड लेने के बाद लोगों को मसल्स ग्रोथ के रूप में जो लाभ मिला, इसी कारण से ये चर्चा में आया और लोगों ने इसका गलत इस्तेमाल करना शुरू कर दिया. उसके बाद कुछ देशों में इसे प्रतिबंधित कर दिया गया, लेकिन लोग कहाँ मानने वाले थे. आज भी प्रतिबन्ध के बावजूद धडल्ले से लोग इसका इस्तेमाल कर रहे हैं.

कुछ जिम करने वालों को तो ये तक नहीं पता होता की Anabolic Steroids Kya Hai और इसके नुकसान कितने घातक हो सकते हैं, वो तो बस बॉडी बनाने की धुन में चले जा रहे हैं. चलिए आपको बताते हैं की क्यों लोग steroids के पीछे भाग रहे हैं, आखिर कौन कौन से Steroids Ke Fayde मिलते हैं लोगों को, जिसके चलते वो लोग इनके अवैध होते हुए भी इनका इस्तेमाल कर रहे हैं.

Steroids Ke Nuksan

स्टेरॉयड एक प्रकार से ह्यूमन ग्रोथ हार्मोन की तरह काम करते हैं. ये व्यक्ति के शरीर में अनावश्यक चर्बी को कम करते हुए बहुत ही कम समय में मांशपेशियों का साइज़ बढ़ा देते हैं. यही कारण है की लोग जल्दी से जल्दी बॉडी बनाने के चक्कर में इनका गलत इस्तेमाल कर रहे हैं. स्टेरॉयड के इस्तेमाल करने पर आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का लेवल बढ़ जाता है.

जिससे आपकी ताकत और स्टैमिना एक दम से बढ़ जाता है. इसके साथ ही पुरुषों की यौन शक्ति में भी सुधार हो जाता है. इसकी ख़ास बात ये है की ये हमारी मसल्स का recovery time घटा देता है. मतलब हमारी मसल्स बहुत जल्दी रिकवर हो जाती हैं. कहने का मतलब ये है स्टेरॉयड एक बार तो हमारी मर्दानगी को पूरी तरह से निखार देते हैं.

स्टेरॉयड लेने या इस्तेमाल करने का तरीका होता है, ऐसा नहीं है की किसी भी साधारण दवा की तरह इसका इस्तेमाल कर लिया जाता है. स्टेरॉयड का एक cycle यानी चक्र होता है. मतलब आपको तय करना होता है की कितने दिन तक आपको स्टेरॉयड इस्तेमाल करना है. जैसे 1 महीने, 2 महिना या फिर 3 महिना, किसी भी स्टेरॉयड का इस्तेमाल लगातार 3 महीने से ज्यादा करना ठीक नहीं रहता.

Cycle पूरा होने के बाद PCT करनी होती है. PCT का मतलब Post Cycle Therapy होता है. PCT करने का प्रमुख उदेश्य शरीर को स्टेरॉयड के साइड इफेक्ट्स से बचाना होता है. PCT करने पर आपके शरीर से स्टेरॉयड साफ़ हो जाते हैं और आपके शरीर में दोबारा से शरीर खुद टेस्टोस्टेरोन बनाना शुरू कर देता है. PCT हमें Aromatisation के प्रभाव से बचाती है.

Aromatisation एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें टेस्टोस्टेरोन हार्मोन एस्ट्रोजन के रूप में बदलने लगता है. ऐसा होने पर लड़कों में भी लड़कियों वाले गुण आना शुरू हो जाते हैं. इसलिए PCT करना बहुत ही जरूरी होता है. तो ये थे Steroids Istemal Karne Ke Fayde और इस्तेमाल करने का तरीका. अब चलते हैं मुख्य पॉइंट की और, जो है Steroids Ke Nuksan. ये वास्तव में इतने भयावह हैं की ये आपकी जिंदगी को नर्क बना सकते हैं.

टेस्टोस्टेरोन क्या है, टेस्टोस्टेरोन लेवल कैसे बढ़ाएं

बॉडी बनाने के नियम, बॉडी बनाने के 8 रूल्स

फेक या नकली सप्लीमेंट की पहचान कैसे करे

जो लोग बॉडी बनाने के लिए स्टेरॉयड का इस्तेमाल करने की सोच रहे हैं वो जरा पहले इनके साइड इफेक्ट्स जान लीजिये. क्योंकि बाद में आपके पास पछताने के अलावा कोई विकल्प नहीं रह जाएगा.

जब हम कोई दवा लेते हैं तो वो हमारे शरीर को प्रभावित करती है, लेकिन स्टेरॉयड लेना हमारी राय में आत्मा के साथ खिलवाड़ है. क्योंकि हम भगवान् के बनाये उन हारमोंस को बदलने की कोशिश करते हैं जो की हमारे गुण निर्धारित करते हैं.

ऐसे में ये एक तरह से भगवान् के खिलाफ चलना होता है. तो आप अंदाजा लगा सकते हैं, जितना बड़ा पंगा होगा, साइड इफेक्ट्स भी उतने ही बड़े होंगे. स्टेरॉयड क्या होता है जान लेने के बाद चलिए अब जानते हैं Steroid Lene Ke Nuksan.

Steroids Ke Nuksan, Side Effects Of Steroids In Hindi

(1) जब आप स्टेरॉयड लेना शुरू करेंगे तो आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ जाएगा, लेकिन जब आप इसे लेना बंद करेंगे तो आपके अन्दर हार्मोनल डिसऑर्डर की समस्या उत्पन्न हो सकती है. जिससे होगा ये की आपका शरीर टेस्टोस्टेरोन बनाना बंद कर देगा. इससे आपमें कुछ लड़कियों वाले गुण आना शुरू हो जायेंगे. जैसे आपकी छाती का उभार लड़कियों जैसा हो जायेगा.

मतलब आपके ब्रेस्ट टिश्यू बढ़ जायेंगे, इसे Gynocomastia कहते हैं जिससे आदमी को शर्मिंदगी महसूस होती रहती है. ये समस्या एक बार हो जाने के बाद धीरे धीरे बढती जाती है. उसके बाद सर्जरी ही इसका एक मात्र इलाज़ है.

(2) स्टेरॉयड का इस्तेमाल करने पर आप नपुंसक हो सकते हैं. जी हाँ जैसा की हमने आपको बताया स्टेरॉयड लेना बंद करने पर आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन बनना बंद हो जाता है. ये समस्या स्थाई भी हो सकती है, इसके बाद तो आप खुद समझदार हैं, अगर टेस्टोस्टेरोन ही नहीं बनेगा, जो की मुख्य सेक्सुअल हार्मोन है तो तो आपकी यौन शक्ति का क्या होगा?

(3) स्टेरॉयड आपके स्पर्म काउंट को प्रभावित कर सकते हैं. ये आपकी स्पर्म क्वालिटी को खराब कर देते हैं. अगर आप अभी कुंवारे है, आपकी शादी नहीं हुयी है तो हो सकता है की भविष्य में आप बाप ही ना बन पायें. ये एक भयानक सपने की तरह लगता है. सोचिये उन लोगों के बारे में जिन्हें संतान सुख नहीं मिल पाता, क्या बीतती है उन पर. अगर आप के साथ भी ऐसा हो गया तो? आगे आप खुद समझदार हैं.

(4) अगर आप इंजेक्शन की बजाय किसी ओरल स्टेरॉयड का इस्तेमाल करते हैं तो Anabolic Steroid Ke Nuksan आपके लीवर और गुर्दों को बुरी तरह से प्रभावित करेंगे. ये एक बड़ा साइड इफ़ेक्ट है स्टेरॉयड का. हमारी किडनी और लीवर अगर डैमेज हो गए तो हमें क्या क्या परेशानियां हो सकती हैं आप खुद सोच लीजिये.

(5) स्टेरॉयड इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति का पेट परमानेंटली फूल सकता है. स्टेरॉयड शरीर में पानी को रोक कर रखते हैं, जिसे वाटर रिटेंशन कहते हैं. ये पानी जब बहुत अधिक दिन तक शरीर में रहता है तो ब्लोटिंग की समस्या परमानेंट हो जाती है. इससे हमारी किडनी पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है और ये काम करना बंद कर सकती हैं.

(6) स्टेरॉयड का इस्तेमाल करने से अटैक का खतरा बढ़ जाता है. ये हमारे शरीर में बेड कोलेस्ट्रोल यानी LDL का स्तर बढ़ा देता है. हम सब जानते हैं LDL का बढ़ा हुआ स्तर बहुत खतरनाक होता है. इसके बहुत ज्यादा बढ़ जाने पर कभी भी हार्ट अटैक आ सकता है. आपने बहुत से athelets, बॉडी बिल्डर्स और रेसलिंग superstars के बारे में सुना होगा जिनकि मौत स्टेरॉयड का अत्यधिक इस्तेमाल करने के कारण हुयी है.

(7) स्टेरॉयड का इस्तेमाल करने पर दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. कई केस में तो ये भी पाया गया है की इनका अधिक इस्तेमाल करने वाले लोगों के दिल का साइज़ डेढ़ से 2 गुना तक बढ़ गया. सोचिये कितनी भयावह स्थिति है ये. इसलिए कभी भी किसी के कहने में आकर स्टेरॉयड लेना ना शुरू करदें. हर चीज़ के बारे में गहराई से जानना जरूरी है.

(8) स्टेरॉयड लेने के कारण आपकी त्वचा भी प्रभावित हो सकती है. आम तौर पर देखा जाता है की स्टेरॉयड लेने वाले लोगों की स्किन पर लाल दाने उभर जाते हैं, जिनमें बहुत भयंकर खुजली होती है. इससे संक्रमण की स्थिति बन सकती है.

(9) स्टेरॉयड का अधिक इस्तेमाल आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ा देता है, कई बार तो धमनियों के फट जाने की समस्या भी सुनी गयी है, अधिक ब्लड प्रेशर होने से आपमें हमेशा घबराहट रहती है और दिल की धड़कन भी बढ़ जाती है. इससे कभी भी स्ट्रोक आने का खतरा बना रहता है.

(10) Steroids Ke Side Effects आपके मूड को भी प्रभावित करते हैं. एक समय आपको ऐसा लगेगा की आप खुश हैं, लेकिन अगले ही पल आप दुखी हो जायेंगे. इस समस्या को मूड स्विंग कहते हैं. जिसे आम भाषा में दिमाग घूमना कहा जाता है. ऐसे में व्यक्ति के लिए सही डिसिशन लेना मुश्किल हो जाता है. इनका अधिक इस्तेमाल करने पर व्यक्ति डिप्रेशन में भी जा सकता है.

नोट:- ये पोस्ट केवल लोगों की जानकारी और हेल्प करने के लिए है. हम कभी भी किसी को स्टेरॉयड इस्तेमाल करने की सलाह नहीं देते. स्टेरॉयड लेना अपने जीवन के साथ खिलवाड़ करने की तरह है. एक छोटी सी गलती आपका पूरा जीवन बर्बाद कर सकती है. अत: सावधानी बरतें.

इन्हें भी जरूर पढ़ें-

बॉडी बनाने के लिए टॉप 10 सप्लीमेंट्स

बॉडी बनाने की आयुर्वेदिक दवाओं की जानकारी

Milk Thistle क्या है, फायदे और पूरी जानकारी

Post Cycle Therapy (PCT) क्या है और कैसे करे

दोस्तों ये थी हमारी पोस्ट Steroid Kya Hai, Steroids Lene Ya Istemal Karne Ke Nuksan. उम्मीद है आपको Steroids Benefits And Side Effects In Hindi आपको अच्छे से समझ आ गए होंगे. पोस्ट को Like और Share करना मत भूलियेगा. कुछ भी पूछने के लिए आप comment कर सकते हैं. धन्यवाद्.

Leave a Reply